सरसों का साग रेसिपी (Sarson Ka Saag Recipe In Hindi)

Sarson Ka Saag Recipe In Hindi

सरसों का साग रेसिपी (Sarson Ka Saag Recipe In Hindi) एक बहुत ही स्वादिष्ट और पंजाब की लोकप्रिय प्रसिद्ध साग की डिश हैं। जो पंजाब में मक्के की रोटी और सरसों दी साग का नाम लेते सारे ढाबे पर बहुत आसानी से और स्वाद में भी अच्छा मिल जाता हैं। और ठंड के मौसम में मक्के की रोटी और सरसों की साग खाने का अपना एक अलग ही मजा हैं। और ये अगर घर में बने मक्खन और लस्सी के साथ खाये तो और भी ज्यादा स्वादिष्ट हो जाती हैं। जो बनाने में आसान और खाने में टेस्टी बनकर तैयार हो जाने वाली एक डिश हैं।इसको बनाने में थोड़ा समय ज्यादा लगता हैं ,पर इसका टेस्ट दूसरी सब्जियों से थोड़ा हटकर होता हैं। और साथ ही साथ स्वाद के साथ पौष्टिक भी होता हैं। और सरसों के साग में कैलोरी कम होती है और फाइबर अधिक होते हैं। इससे शरीर का मेटाबॉलिज्म ठीक रहता है और वजन को नियंत्रित रखना आसान हो जाता है। सरसों के साग में कैल्शियम और पोटैशियम अच्छी मात्रा में होते हैं ,जो हड्डियों को मजबूत बनाने में मदद करते हैं। यह हड्डियों से जुड़े रोगों के उपचार में भी फायदेमंद माना जाता है।

सामग्री :- सरसों का साग रेसिपी (Sarson Ka Saag Recipe In Hindi) बनाने में लगने वाली सामग्री 

  • सरसों के हरे पत्ते (साग) - 500 ग्राम (2 गुच्छा )
  • पालक - 200 ग्राम (1 गुच्छा )
  • बथुआ - 100 ग्राम (1/2 गुच्छा )
  • मेथी - 50 ग्राम 
  • प्याज - 100 ग्राम 
  • टमाटर - 250 ग्राम (बारीक़ कटा हुआ)
  • हरी मिर्च - 3 -5 (बारीक़ कटी हुई )
  • लहसुन - 1 टेबल स्पून (पेस्ट या क्रस किया हुआ )
  • अदरक - 1+1/2 टेबल स्पून (पेस्ट या क्रस किया हुआ )
  • जीरा - 1/2 टी स्पून 
  • हींग - 3 पिंच 
  • हल्दी -1/4 टी स्पून 
  • लाल मिर्च पाउडर - 1/4 टी स्पून 
  • मक्के का आटा - 1/4 कप 
  • नमक - स्वादानुसार 
  • सरसों तेल या घी - 2 टेबल स्पून 
  • तैयारी का समय - 15 मिनट 
  • पकाने का समय - 35 मिनट 
  • कुल समय - 50 मिनट 
  • कितने लोगों के लिए - 4 

  इसे भी पढ़ें  :-  मक्के की रोटी रेसिपी - Makki Ki Roti Recipe In Hindi

विधि:- सरसों का साग रेसिपी (Sarson Ka Saag Recipe In Hindi) बनाने की विधि 

  1. सरसों का साग रेसिपी (Sarson Ka Saag Recipe In Hindi) बनाने के लिए सबसे पहले हमें सरसों ,पालक ,बथुआ और मेथी के पत्तों को अच्छे से साफ करके दो से तीन बार पानी से धो लें। और जालीदार टोकरी में छानकर रख दें ताकि सारा एक्स्ट्रा पानी निकल जाये , फिर हम साग को मोटे मोटे टुकड़ों में काट लें।
  2. अब हम एक प्रेशर कुकर में सभी साग(सरसों ,पालक ,बथुआ और मेथी ),टमाटर,हरी मिर्च ,अदरक और लहसुन डालें। इसके अलावा नमक और 1/2 कप पानी डालें ,और कुकर का ढ़क्कन बंद करके मध्यम आंच पर 3 से 5 सीटी लगा लें। अगर आप कढ़ाई में पका रहें हैं ,तो साग के नरम होने तक पका लें। इसमें 10 से 12 मिनट का समय लगता हैं।
  3. जब 5 सीटी लग जाये तो गैस ऑफ कर दें ,और प्रेशर निकल जाने के बाद साग को कलछी से अच्छे से घोट (मसल ) लें।या आप साग को ठंडा करके मिक्सी में दरदरा पीस लें। अगर आप साग को मिक्सी में पीस कर बना रहें हैं तो साग की एक सीटी ही लगायें। और अगर मिक्सी में नहीं पीसना तो 5 सीटी लगाकर साग को कलछी से अच्छे से मसल ले ताकि साग चिकना हो जाये।
  4. अब एक कढ़ाई को गैस पर रखकर गर्म करें ,तथा गर्म कढ़ाई में 2 टेबल स्पून सरसों का तेल डालकर तेल को भी गर्म करें।अब गर्म तेल में जीरा डालकर चटका लें ,फिर प्याज डालकर भूनें और प्याज को भूनकर हल्का गुलाबी कर लें। इसमें लगभग 2 से 3 मिंट का समय लगता हैं ,फिर प्याज में हल्दी ,लाल मिर्च पाउडर ,और हींग डालकर अच्छे से मिलातें हुए मसालों से तेल छोड़ने तक पका लें।
  5. अब इसमें सरसों के साग को डालकर अच्छे से मिला लें। और थोड़ा थोड़ा करके मक्के के आटे को डालें और मिलाते जाये।और 10 से 12 मिनट मध्यम फ्लेम पर बीच बीच में चलाते हुए पका लें। और 12 मिनट के बाद गैस ऑफ कर दें। अब हमारा सरसों का साग रेसिपी (Sarson Ka Saag Recipe In Hindi) बनकर तैयार हैं। 
  6. आप सरसों के साग को गरमा गरम मक्के के रोटी के साथ सर्व करें।या आप सरसों के साग को गरमा गरम मक्के की  रोटी ,मक्खन और दही या लस्सी के साथ दोपहर या रात के खाने में पंजाबी स्टाइल में सर्व करें। 

नोट्स:- सरसों का साग रेसिपी (Sarson Ka Saag Recipe In Hindi) बनाने में ध्यान देने वाली बातें 

  1. सरसों के साग को आप कढ़ाई या कुकर किसी में भी बना सकते हैं। साग का रंग हरा रखने के लिए आप साग को पकाते समय साग को ढ़ककर ना पकायें।
  2. आप सरसों के साग में मक्के के आटे को हल्का भूनकर भी डाल सकते हैं ,और सरसों के साग में मेथी का इस्तेमाल ऑप्शनल हैं आप चाहें तो स्किप भी कर सकते हैं।
  3. अगर बथुआ की साग ना मिले तो पालक की साग की मात्रा बढ़ा कर डालकर बना सकते हैं ,क्योंकि सरसों का साग रुखा होता हैं ,और पालक ,बथुआ की साग डालने से साग में चिकनाहट आती हैं।
  4. आप अपने टेस्ट के अनुसार तीखापन हरी मिर्च या लाल मिर्च को कम या ज्यादा कर सकते हैं।
Rate It:
Average:5/5 (1 Votes)